SRK Yash Chopra

Yash Chopra Death Anniversary: आखिर यश चोपड़ा को शाहरुख खान इतने क्यों पसंद थे ?

Spread the love

आज यानी 21 अक्टूबर को हिंदी फिल्मों के रोमांस किंग कहे जाने वाले मशहूर डायरेक्टर यशराज चोपड़ा की पुण्यतिथि है. यश चोपड़ा (Yash Chopra) की पूरी जिंदगी फिल्में बनाने में ही बीतीं. अपनी जिंदगी के आखिरी दिनों में भी वो एक फिल्म का निर्देशन कर रहे थे. ‘जब तक है जान’ (Jab Tak Hai Jaan) उनकी आखिरी फिल्म थी. इस फिल्म का निर्देशन लगभग पूरा हो गया था लेकिन एक आखिरी गाने की शूटिंग होनी बाकी थी. शूटिंग के लिए यश जी तैयारी कर ही रहे थे कि अचानक उनकी तबियत खराब हो गई. उन्हें मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां 82 साल की उम्र में उनका निधन हो गया. फिल्म बिना उस आखिरी गाने को शूट किए ही रिलीज कर दी गई.

JTHJ
जब तक है जान ( पोस्टर)

‘जब तक है जान’ फिल्म में मुख्य भूमिका में उनके चहेते कलाकार शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) थे. यश चोपड़ा और शाहरुख खान का रिश्ता बाप-बेटे जैसा था, तभी तो अपनी जिंदगी की आखिरी चार फिल्मों में यश जी ने शाहरुख के साथ ही काम किया. शाहरुख को एक स्टार और सुपरस्टार बनाने में यश जी का सबसे बड़ा रोल रहा है. खुद शाहरुख भी ये बात हमेशा कहते हैं. जिदंगी के आखिरी 20 सालों में यश जी ने चार फिल्मों का निर्देशन किया- डर, दिल तो पागल है, वीर जारा और जब तक है जान. इन चारों में शाहरुख थे और ये सभी फिल्में बॉलीवुड की चुनिंदा बेस्ट फिल्मों में से एक हैं.

SRK Yash Chopra
शाहरुख खान और यश चोपड़ा

लेकिन यश चोपड़ा को शाहरुख इतने पसंद क्यों थे? इसका जवाब उन्होंने अपने निधन से कुछ दिनों पहले शाहरुख को दिए एक इंटरव्यू में दिया था. यश जी ने शाहरुख से कहा था,

“शाहरुख तुम्हारे साथ मैं 20 सालों से काम कर रहा हूं..इसकी कोई वजह होगी..अगर तुम्हें इस बात का गुमान है कि तुम बहुत बड़े स्टार हो, इसलिए मैं तुम्हारे साथ काम करता हूं तो ये बात नहीं है. शाहरुख तुम इकलौते ऐसे एक्टर हो जिसने मुझसे कभी ये नहीं पूछा कि आपकी स्टोरी क्या है…तुमने कभी ये सवाल नहीं किया कि आप मुझे पैसे क्या दे रहे हैं..किसी भी फिल्म में तुमने मुझसे प्रोडक्शन के दौरान एक भी पैसा नहीं लिया..फिल्म रिलीज होने के एक हफ्ते पहले मैं तुम्हे एक चेक भेजता था, जिसके बाद तुम्हारा फोन आता था कि यश जी आपने पैसे कुछ ज्यादा ही दे दिए हैं…मुझे याद है एक बार मैंने तुम्हें फोन किया कि मैं फिल्म बना रहा हूं, तुम मुझसे मिलते क्यों नहीं? तुम बिजी हो माना पर मिलो तो सही. फिर तुम आए. तुमने कहा- स्टोरी मुझे सुनना नहीं, जो आप कहेंगे मैं करूंगा; पैसे मुझे मांगने नहीं, जो आप देंगे मैं ले लूंगा; आपके और मेरे बीच एक अंडरस्टैंडिंग है..जब मैं आपकी फिल्म कर रहा हूंगा तो कहीं और काम नहीं करूंगा, फिर आपसे क्यों मिलूं? शाहरुख तुमने मुझे सिखाया कि फिल्में पैसों की वजह से नहीं, बल्कि दिल से की जाती है. हम इतने सालों से साथ काम कर रहे हैं क्योंकि हम दोनों एक-दूसरे पर भरोसा करते हैं.”

SRK Yash Chopra
शाहरुख खान और यश चोपड़ा

कुछ ऐसा था यश चोपड़ा और शाहरुख खान का कनेक्शन. सिर्फ यश चोपड़ा ही नहीं, बल्कि उनके बेटे और बॉलीवुड के सबसे बड़े प्रोड्यूसर-डायरेक्टर आदित्य चोपड़ा को भी शाहरुख काफी पसंद हैं. अक्सर यश चोपड़ा की फिल्मों की कहानी आदित्य ही लिखा करते थे.

यश जी की पुण्यतिथी पर उन्हें शत-शत नमन !

Leave a Reply

Your email address will not be published.