चंद्रयान-2: ISRO की तैयारी जोरों पर, फरवरी में लॉन्च होने की संभावना

Spread the love

हैदराबाद: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अगले महीने दूसरे चंद्र मिशन ‘चंद्रयान-2’ को लॉन्च करने की संभावना है. इसरो के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘हम सभी पूरी कोशिश कर रहे हैं. मिशन लॉन्च फरवरी में संभव होना चाहिए. इसमें कोई बाधा नहीं है क्योंकि काम सही तरीके से हो रहा है.’’ हांलांकि, उन्होंने अभी किसी तारीख के बारे में नहीं बताया है.

चंद्रयान-2 पूरी तरह से स्वदेशी उपक्रम है, जिसमें एक ऑर्बिटर, एक लैंडर और एक रोवर होगा. इसरो के मुताबिक, लैंडर चंद्रमा की सतह पर एक विशेष स्थान पर उतरेगा और वहां एक रोवर तैनात करेगा. छह पहियों वाला रोवर धरती से मिलने वाले दिशा-निर्देशों के हिसाब से चंद्रमा की सतह पर लैंडर के उतरने के स्थान के आसपास घूमेगा.

(Image Credit: HT)

चंद्रमा पर पानी की मौजूदगी का लगाएगा पता
रोवर में लगे उपकरण चंद्रमा की सतह का अध्ययन करेंगे और उससे जुड़ी जानकारी वापस भेजेंगे. ये जानकारी चंद्रमा की मिट्टी के विश्लेषण के लिए लाभकारी होगी. वहीं, 3,290 किलोग्राम वजनी चंद्रयान-2, चंद्रमा की कक्षा में चक्कर लगाएगा और उसका अध्ययन करेगा. इसरो ने कहा कि उपकरण; चंद्रमा के आकार, खनिज पदार्थों की मौजूदगी, वातावरण और पानी की मौजूदगी का अध्ययन करेगा.

‘चंद्रयान-1’ भारत का पहला चंद्र मिशन था. इसरो ने इसे अक्टूबर 2008 में लॉन्च किया था और ये अगस्त 2009 तक परिचालन में रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.